नकदी फसलें अथवा व्यापारिक फसलें 2

नकदी फसलें अथवा व्यापारिक फसलें – 2 Download

चाय

  • भारत में चाय की व्यापारिक स्तर पर कृषिसर्वप्रथम1834 ई० में लार्ड विलियम बेंटिक के काल में असम में प्रारम्भ की गयी थी | हालांकि चाय का मूल स्थानचीन (China) है |
चाय की कृषि के लिए अनुकूल दशाएं – (i)     150-250 सेमी० तक वार्षिक वर्षा (ii)    पर्वतीय ढ़ालदार भूमि (iii)   उच्च तापमान (iv)   हरी और गन्धकयुक्त मिट्टी |
  • भारत में चाय, कॉफी, रबड़ और मसालों की खेती लैटेराइट मिट्टी में की जाती है |
  • चाय उत्पादक शीर्ष तीन राज्य – असम, प० बंगाल और तमिलनाडुराज्य हैं |
  • भारत में कुल चाय उत्पादन का लगभग 50% उत्पादन केवल असम में किया जाता है |
चाय
चाय
असम में चाय उत्पादन मुख्यत: दो क्षेत्रों में होता है – (i)     ब्रह्मपुत्र नदी की घाटी (ii)    सूरमा नदी की घाटी
  • देश में चाय की कृषि के अन्तर्गत क्षेत्रफल की दृष्टि से प्रथम स्थान असम का है |
भारत में राज्यवार चाय उत्पादन क्षेत्र निम्नलिखित हैं –
  • असम – ब्रह्मपुत्र और सूरमा नदी की घाटी
  • पश्चिम बंगाल – दार्जिलिंग, कूचबिहार और जलपाईगुड़ी
  • हिमाचल प्रदेश – कुल्लू घाटी
  • तमिलनाडु – नीलगिरी के पर्वतीय क्षेत्रों में
  • दक्षिण भारत मेंतमिलनाडु चाय के उत्पादन में अग्रणी राज्य है |
विश्व में शीर्ष तीन चाय उत्पादक देश निम्नलिखित हैं – (i)     चीन (ii)    भारत (iii)   केन्या   विश्व में शीर्ष तीन चाय निर्यातक देश हैं- (i)     केन्या (ii)    चीन (iii)   श्रीलंका
  • विश्व में शीर्ष काली चाय उत्पादक देश भारत है |

कॉफी/कहवा

  • कहवा का मूल स्थान अमेजन नदी की घाटी है |
  • भारत में कहवा सबसे पहले बाबाबूदन द्वारा अरब क्षेत्र से लाया गया था और कर्नाटक के बाबाबूदन पहाड़ी क्षेत्र में लगाया गया था |
  • भारत में कहवा का सबसे बड़ा उत्पादक राज्य कर्नाटक है |
  • कहवा की खेती दक्षिण भारत के पर्वतीय ढ़ालोंपर होती है |
  • कहवा अथवा कॉफी की खेती मुख्य रूप से दक्षिण भारत के तीन राज्यों कर्नाटक, केरल और तमिलनाडु में की जाती है | संक्षेप में कहा जा सकता है कि कहवा की खेती दक्षिण भारत में नीलगिरी पर्वत पर की जाती है |
कॉफी
कॉफी
  • भारत का सबसे बड़ा कहवा उत्पादक राज्य कर्नाटक है | कर्नाटक देश के कुल कहवा उत्पादन का लगभग 68% उत्पादन करता है |
  • कर्नाटक के बाद कहवा उत्पादन में दूसरा सबसे बड़ा राज्य केरल है |
दुनिया में कॉफी की मुख्य रूप से 5 प्रजातियां पायी जाती हैं- (i)     अरेबिका (ii)    रोबस्टा (iii)   मोका (iv)   ब्लूमाउण्टेन (v)    लिबेरिका
  • भारत में कहवा के प्रजातियों में मुख्यत:अरेबिका तथा रोबस्टा की बुआई की जाती है | किन्तु भारत में कुल बोये गये कहवा क्षेत्रफल के 60% कृषि क्षेत्र पर केवल अरेबिका प्रजाति के कहवा की कृषि की जाती है |
  • मोका प्रजाति के कहवा की खेती अरब प्रायद्वीप में यमन देश के तट पर होती है |
  • ब्लूमाउण्टेनकिस्म के कहवा की खेती जमैका में की जाती है |
  • लिबेरिका प्रजाति के कहवा की खेती लाइबेरिया में होती है |
कहवा के तीन शीर्ष उत्पादक देश निम्नलिखित हैं – (i)     ब्राजील (ii)    वियतनाम (iii)   इण्डोनेशिया
  • चाय के पौधे से वर्ष में तीन बार पत्तियाँ चुनी जा सकतीहैं किन्तु कहवा 4 वर्ष में केवल एक बार फल देता है |
  • ‘चाय और तम्बाकू’पौधों के पत्तों से प्राप्त किया जाता है जबकि ‘कहवा’पौधों के फल से प्राप्त किया जाता है |

तम्बाकू

  • तम्बाकू का मूल स्थान अमेजन घाटी है |
विश्व में तम्बाकू की दो किस्में पायी जाती हैं – (i)     निकोटियाना टोबैकम (ii)    रस्टिका
  • भारत में मुख्य रूप से नीकोटियाना टोबैकम की खेती की जाती है |
  • भारत में तम्बाकू की खेती का सबसे ज्यादा क्षेत्रफल आन्ध्र प्रदेश में है |
  • तम्बाकू के शीर्ष दो उत्पादक राज्य क्रमश: आन्ध्रप्रदेश और गुजरात राज्य हैं |
  • भारत में तम्बाकू 17 वीं शताब्दी में पुर्तगालियों के द्वारा मुगलबादशाह जहांगीर के शासन काल में लाया गया था |
  • पुर्तगालियों के द्वारा मुख्य रूप से दो फसल आलू और तम्बाकू लाया गया था |
  • विश्व में तम्बाकू का सबसे बड़ा उत्पादक और उपभोक्ता देश चीन है तथा दूसरे स्थान पर भारत है |
तम्बाकू
तम्बाकू
  • संयुक्त राज्य अमेरिका का मोण्टाना प्रान्त उच्च गुणवत्ता वाले तम्बाकू के उत्पादन के लिए जाना जाता है |
  • ‘विश्वतम्बाकू निषेध दिवस’ 1 मई, 2004 से नियमित रूप से मनाया जाता है |
  • विश्व तम्बाकू निषेध दिवस(1 मई, 2004 से)सार्वजिनिक स्थल पर धुम्रपान और तम्बाकू उत्पादन के विज्ञापन पर रोक लगाता है |

जूट

  • कुछ फसलें रेशेदार फसलों की श्रेणियों के अन्तर्गत आती हैं, जिनमें हम मुख्यत: रेशे प्राप्त करते हैं जैसे – कपास, जूट, पटसन, मेस्ता और सनई |
  • जूट से प्राप्त रेशों का प्रयोग मोटे वस्त्र, थैले, बोरे, रस्सियांअन्य सजावटी सामान बनाने में किया जाता है |
  • भारत में कुल जूट उत्पादन का 70% उत्पादनपश्चिम बंगाल करता है |
  • विश्व में जूट उत्पादन गंगा और ब्रह्मपुत्र के डेल्टा क्षेत्र में होता है |
  • विश्व में सबसे बड़ा जूट उत्पादक देश बांग्लादेश है |
जूट
जूट

Leave a Message

Registration isn't required.


By commenting you accept the Privacy Policy

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Usernicename
Munish kumar March 18, 2020, 1:28 am

Hi