सीसा और जस्ता

सीसा और जस्ता Download

  • सीसा और जस्ता को जुड़वा खनिज कहा जाता है |प्रायः ये दोनों खनिज किसी भी खान में साथ-साथ पाये जाते हैं |
  • सीसा और जस्ता के उत्पादन और भण्डारण की दृष्टि से देश में राजस्थान का प्रथम स्थान है |
  • भारत में जस्ता का 92% भण्डार और सीसा का लगभग 50% भण्डार राजस्थान राज्य में ही पाया जाता है |
  • भारत में राजस्थान राज्य सीसा-जस्ता अयस्क का सबसे बड़ा उत्पादक राज्य है |यहाँ उदयपुर जिले में जावर की खान देश की सबसे बड़ी एवं महत्वपूर्ण सीसा-जस्ता की खान है |
सीसा और जस्ता
सीसा और जस्ता
  • एशिया का श्रेष्ठ सीसा-जस्ता भण्डार भीलवाड़ा जिले के रामपुर आगूचा क्षेत्र में है |भारत में जस्ते का उत्पादन मांग के अनुरूप नही होता है |अतः इसे आस्ट्रेलिया, पेरू, मैक्सिको, कनाडा, जायरे तथा रूस आदि देशों से आयात किया जाता है |
  • सीसा और जस्ता का निष्कर्षण हिंदुस्तान जिंक लिमिटेड(Hindustan zinc limited) द्वारा किया जाता है |
  • जस्ता का सर्वाधिक उपयोग लोहा एवं इस्पात उद्योग में किया जाता है |जस्ते का उपयोग लोहे को जंगरोधी बनाने मेंकिया जाता है |इसके अलावा जस्ते का उपयोग विद्युत बैट्री, मिश्रित धातु बनाने,धातुओं पर पॉलिश करने आदि में भी किया जाता है |
  • सीसा का प्रमुख अयस्क गेलेना है, जबकि स्फेलेराइट और कैलेमिन जस्ता का प्रमुख अयस्क है | सीसे के एसिटेट का उपयोग का औषधि के रूप में तथा सीसे के नाइट्रेट का केलिको प्रिंटिंग एवं रंगाई में किया जाता है |
  भारत में सीसा और जस्ता की प्रमुख खानें-
राजस्थान जावर की खान (उदयपुर जिला)
रामपुर अगुचा (भीलवाड़ा जिला)
सिक्किमभोटांग और पाचेयखानी

ताँबा

  • मानव सभ्यता द्वारा इस्तेमाल की जाने वाली पहली धातु ताँबा ही है | भारत में पाषाण काल से ही तांबे का प्रयोग किया जा रहा है |
  • ताँबा का प्रमुख अयस्क कैल्कोपाइराइट, क्यूप्राइट एजुराइट और मैलाकाइट है |
  • ताँबा में टिन को मिलाकर एक अन्य धातु कांसा बनाया जाता है|हड़प्पा सभ्यता में प्रयोग किया जाने वाला प्रमुख धातु कांसा ही था|यद्यपि हड़प्पा सभ्यता के लोग ताँबे का भी उपयोग करते थे,किन्तु कांसे को ये अपनी सभ्यता का द्योतक मानते थे| ताँबे को जस्ते के साथ मिलाकर एक अन्य धातु, पीतल बनाया जाता है |
  •   भारत में ताँबे के उत्पादन एवं भण्डारण दोनों की दृष्टि से मध्य प्रदेश राज्य का प्रथम स्थान है तथा दूसरा स्थान राजस्थान राज्य का है | किन्तु तांबे के उत्पादन मूल्य की दृष्टि से राजस्थान का भारत में प्रथम स्थान है |
  • मध्य प्रदेश में भारत की सबसे बड़ी ताँबे की खान बालाघाट जिले में मलाजखंड है |
भारत में  तांबे की प्रमुख खानें-
राजस्थानखेतड़ी की खान (झुंझनू जिला) खोदरीबा (अलवर जिला)
मध्यप्रदेशबालाघाट जिले में मलाजखंड
झारखण्डमोसाबानी (सिंहभूमि जिला)
सिक्किमभोटांग, पाचेयखानी और रंगपो

चाँदी

  • भारत में चाँदी की स्वतंत्र अथवा विशुद्ध खानें नहीं पायी जाती हैं | भारत में चाँदी प्रायः सीसा-जस्ता, सोना आदि के साथ मिश्रित रूप में पायी जाती है | उदहारण के लिए- राजस्थान में उदयपुर जिले में जावर की खान में सीसा और जस्ता के साथ चाँदी भी पाई जाती है |
  • भारत में चाँदी का सबसे बड़ा उत्पादक राजस्थान का चित्तौडगढ़ जिला है | चाँदी कुछ मात्रा में दक्षिण भारत में कोलार की खान (कर्नाटक) से भी प्राप्त होती है |
  • भारत में सीसा-जस्ता और तांबा का उत्पादन पर्याप्त मात्रा में नहीं हो पाता है, जिसके कारण इन धातुओं का विदेशों से आयात करना पड़ता है |

Leave a Message

Registration isn't required.


By commenting you accept the Privacy Policy

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.