भारत सरकार ने राष्ट्रीय टीबी नियंत्रण कार्यक्रम का नाम बदल किया ‘राष्ट्रीय ट्यूबरक्लोसिस समाप्ति कार्यक्रम’ | 20 January 2020

भारत सरकार ने राष्ट्रीय टीबी नियंत्रण कार्यक्रम का नाम बदल किया ‘राष्ट्रीय ट्यूबरक्लोसिस समाप्ति कार्यक्रम’ Download

भारत सरकार ने राष्ट्रीय टीबी नियंत्रण कार्यक्रम का नाम बदलकर राष्ट्रीय ट्यूबरक्लोसिस समाप्ति कार्यक्रम कर दिया है। इसके अलावा विश्व स्वास्थ्य संगठन ने भारतीय वैज्ञानिकों द्वारा विकसित तकनीक TrueNat MTB का अनुमोदन किया है, इसके द्वारा टीबी का पता लगाया जा सकता है।

भारत ने 2025 तक देश से टीबी को समाप्त करने का लक्ष्य रखा है। यह लक्ष्य संयुक्त राष्ट्र के सतत विकास लक्ष्य से पांच वर्ष पहले निर्धारित किया गया है। विश्व स्वास्थ्य संगठन ने भारतीय वैज्ञानिकों द्वारा विकसित तकनीक TrueNat MTB की सटीकता को स्वीकार किया है। इससे टीबी को समाप्त करने में काफी सहायता होगी।

TrueNat MTB

TrueNat MTB एक नया मॉलिक्यूलर टेस्ट है, इसके द्वारा एक घंटे के भीतर ट्यूबरक्लोसिस का पता लगाया जा सकता है। इस टेस्ट में बैक्टीरिया का पता लगाने के लिए पालीमीरेज़ चैन रिएक्शन का इस्तेमाल किया जाता है। जिस डिवाइस के द्वारा यह टेस्ट किया जाता है, उसमे बैटरी का उपयोग किया जाता है।

शुरू में TrueNat MTB किट सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्रों पर उपलब्ध होगी। बाद में यह किट प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्रों पर भी उपलब्ध होगी। देश भर में 5500 से 6000 प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र हैं।

इससे पहले कुष्ठरोग और पोलियो कार्यक्रमों का नाम परिवर्तन भी किया गया था। 1983 में राष्ट्रीय कुष्ठरोग नियंत्रण कार्यक्रम का नाम बदलकर राष्ट्रीय कुष्ठरोग समाप्ति कार्य्रकम कर दिया गया था। जबकि राष्ट्रीय पोलियो मायलाइटिस  नियंत्रण कार्यक्रम का नाम बदलकर पोलियो सम्पति कार्यक्रम कर दिया गया था।

‘2025 तक भारत को मिल जायेगा S-400 एयर डिफेंस मिसाइल सिस्टम, रूस ने शुरू किया  मिसाइल का उत्पादन

रूस ने 17 जनवरी, 2020 को S-400 मिसाइल का उत्पादन शुरू करने की घोषणा की। यह मिसाइलें भारत को 2025 तक डिलीवर की जायेंगी। इसके अलावा रूस ने मार्च, 2020 में भारत, चीन और रूस के विदेश मंत्रियों की बैठक की घोषणा भी की।

रूस और बेलारूस के बाद चीन विश्व का ऐसा तीसरा देश है जिसके पास S-400 मिसाइलें हैं। भारत इन मिसाइलों को प्राप्त करने वाला चौथा देश बनेगा।

चीन रूस से S500 मिसाइल को प्राप्त करने वाला पहला देश होगा। वर्तमान में S500 मिसाइलों का विकास किया जा रहा है, यह अभी तक परीक्षण चरण में है। S500 अमेरिका के  THAAD (Terminal High Altitude Area Defence) सिस्टम की तरह है। S500 सतह से हवाई में मार कर सकने वाली मिसाइलों की  प्रणाली है, इसकी रेंज लगभग 600 किलोमीटर है।

भारत, चीन और रूस के विदेश मंत्रियों की बैठक

मार्च, 2020 में भारत, चीन और रूस के विदेश मंत्रियों की बैठक का अओजन किया जाएगा। यह ऐसा 17वां अवसर होगा जब इन तीनों देशों के विदेश मंत्री मुलाकात करेंगे।

‘World Economic Situation and Prospects’ रिपोर्ट :संयुक्त राष्ट्र

संयुक्त राष्ट्र ने हाल ही में ‘World Economic Situation and Prospects’ रिपोर्ट जारी की। इस रिपोर्ट के अनुसार मौजूदा वित्त वर्ष में भारत की जीडीपी विकास दर 5.7% रहेगी। अगले वित्त वर्ष में भारत की जीडीपी विकास दर 6.6% रहने के आसार हैं। इस रिपोर्ट के मुताबिक पूर्वी एशिया विश्व का सबसे तेज़ गति से प्रगति करने वाला क्षेत्र है। इस रिपोर्ट में वैश्विक वृद्धि दर 1.8% रहने का अनुमान लगाया गया है।

हाल ही में विश्व बैंक ने भी अपने अनुमान जारी किये थे, विश्व बैंक के अनुसार वित्त वर्ष 2020 में भारत की जीडीपी विकास दर 5% रहेगी। जबकि अगले वित्त वर्ष में जीडीपी विकास दर बढ़कर 5.8% होने के आसार हैं।

केन्द्रीय सांख्यिकी कार्यालय ने हाल ही में 2019-20 के लिए सकल घरेलु उत्पाद के प्रथम अग्रिम अनुमान जारी किये। CSO के अनुमान के अनुसार मौजूदा वित्त वर्ष में भारत की जीडीपी विकास दर 5% रहने का अनुमान है। यह अनुमान पिछले दो तिमाहियों पर आधारित है। 2018-19 में जीडीपी विकास दर 6.8% रही थी। इस वर्ष विनिर्माण सेक्टर में मंदी के कारण जीडीपी विकास दर में कमी आई है। 2019-20 के दौरान विनिर्माण सेक्टर की विकास दर 2% रही, जबकि पिछले वर्ष यह दर 6% थी।

संयुक्त राष्ट्र संघ (UN) एक अंतरसरकारी संगठन है, इसकी स्थापना अंतर्राष्ट्रीय सहयोग तथा शांति की स्थापना के लिए की गयी थी। संयुक्त राष्ट्र की स्थापना लीग ऑफ़ नेशंस नामक संगठन के स्थान पर की गयी थी। संयुक्त राष्ट्र संघ की स्थापना 24 अक्टूबर, 1945 को की गयी थी, स्थापना के समय संयुक्त राष्ट्र के 51 सदस्य देश थे, वर्तमान में संयुक्त राष्ट्र संघ के सदस्यों की संख्या 193 हैं।  इसका मुख्यालय अमेरिका के न्यूयॉर्क में स्थित है। वर्तमान में संयुक्त राष्ट्र संघ के अध्यक्ष अंतोनियो गुटेरेस हैं।

भारतीय सेना ने किया हवाई अभ्यास’विंग्ड रेडर’

भारतीय सेना ने हाल ही में विंग्ड रेडर (Winged Raider) नामक अभ्यास का आयोजन किया, इस अभ्यास में 500 से अधिक सैनिकों ने हिस्सा लिया। इस अभ्यास का आयोजन उत्तर-पूर्वी युद्ध क्षेत्र में किया गया।

इस अभ्यास का आयोजन पैराट्रूपर और हवाई योद्धाओं की तैयारी का प्रदर्शन करने के लिए किया गया। इस अभ्यास में C-130 हर्कुलस, ध्रुव हेलीकाप्टर और C-17 ग्लोब मास्टर परिवहन विमान का उपयोग किया गया।

इस अभ्यास में सीमा क्षेत्र में चीन का सामना करने पर फोकस किया गया। इसमें कुछ के एडवांस्ड हथियारों को पूर्वी क्षेत्र में पहुंचाने पर भी बल दिया गया।

भारतीय सेना चीन द्वारा प्रस्तुत खतरे से निपटने के लिए तैयारी कर रही है। इसके अलावा भारत पूर्वी सीमाओं पर अधोसंरचना के विकास पर भी काफी कार्य कर रहा है। इस प्रकार के अभ्यास से भारतीय सेना को अपनी तैयारी का मूल्यांकन करने में सहायता होगी।

अक्टूबर, 2019 में अरुणाचल प्रदेश में हिमविजय अभ्यास का आयोजन किया गया था। इस युद्ध अभ्यास में ‘इंटीग्रेटेड बैटल ग्रुप्स’ ने हिस्सा लिया। इसमें नव गठित ’17 माउंटेन स्ट्राइक कोर’ के कौशल का परीक्षण किया गया। इस अभ्यास में भारतीय वायुसेना ने भी हिस्सा लिया। इस अभ्यास में C130J सुपर हर्कुलस, AN32 तथा C17 का उपयोग भी किया गया था।

5 thoughts on "भारत सरकार ने राष्ट्रीय टीबी नियंत्रण कार्यक्रम का नाम बदल किया ‘राष्ट्रीय ट्यूबरक्लोसिस समाप्ति कार्यक्रम’ | 20 January 2020"

  • Sir n.k Singh ka science video exercise PCs 2019 ka h use YouTube p close kr diya gya h plz use open kr de plzz sir I request I sir plz

  • Very useful

  • History ke notes ka to intzaar kr hi rahe hai h

  • Polity and science and technology ke pdf kb tk mil jaenge bhrose ke pratik sir ji

  • Write a Reply or Comment

    Your email address will not be published. Required fields are marked *


    This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

    View All News