लौह अयस्क

लौह अयस्क Download

लौह अयस्क
लौह अयस्क
  • भूगर्भ में चट्टानों के नीचे दबा हुआ कोई भी धातु शुद्ध धातु के रूप में नहीं होता है, अपितु यह चट्टानों के साथ मिश्रित अवस्था में होता है | इसमें कुछ मात्रा में धातुएं, कुछ मात्रा में अन्य धातुएं, चट्टानी कण और नमी होती है | इस मिश्रित  अवस्था  की  धातु युक्त चट्टानों को जब एक निश्चित ताप पर गर्म करके पिघलाते हैं,तब उससे शुद्ध रूप में धातु प्राप्त होता है |
  • भारत का लौह अयस्क के उत्पादन में विश्व में चौथा स्थान है | लौह अयस्क उत्पादन में शीर्ष स्थान वाले देश क्रमश: चीन, आस्ट्रेलिया, ब्राजील तथा भारत है |
भारत  में मुख्यतः चार प्रकार के लौह अयस्क पाये जाते हैं – (i)     मैग्नेटाइट (ii)    हेमेटाइट (iii)   लिमोनाइट (iv)   सिडेराइट
  • लौह अयस्कों में मैग्नेटाइट अयस्क सर्वोत्कृष्ट कोटि का लौह अयस्क है|किन्तु भारत में यह बहुत कम मात्रा में पाया जाता है | मैग्नेटाइट भारत में मुख्य रूप से प्रायद्वीपीय भारत के राज्य जैसे – कर्नाटक,तमिलनाडु, केरल तथा गोवा में पाया जाता है |
  • मैग्नेटाइट मुख्य रूप से कर्नाटक में कुन्द्रेमुख पर्वत , केरल के कोझिकोड और तमिलनाडु के सलेम में पाया जाता है |
  • भारत में मैग्नेटाइट लोहे का लगभग 70 % भाग कर्नाटक राज्य में पाया जाता है |
  • हेमेटाइट भारत में लौह अयस्कों में द्वितीय कोटि का लौह अयस्क है | किन्तु भारत में 80% लौहअयस्क हेमेटाइट कोटि का ही पाया जाता है |
  • जहाँ मैग्नेटाइट दक्षिण भारत के राज्यों में पाया जाता है,वहीं हेमेटाइट पूर्वी भारत के राज्यों में जैसे – ओडिशा, झारखंड और छत्तीसगढ़ राज्यों में पाया जाता है |
  • लिमोनाइट और सीडेराइट घटिया किस्म का लौह अयस्क होता है | इसका आर्थिक रूप से महत्व नहीं होता है | इसमें भी सिडेराइट अत्यन्त ही निम्न कोटि का लौह अयस्क होता है |
  • भारत में सर्वाधिक लौह अयस्क भण्डारण कर्नाटक राज्य में है किन्तु सर्वाधिक उत्पादन ओडिशा राज्य में होता है |
  • लौह अयस्क का सर्वाधिक भण्डारण वाले शीर्ष राज्य क्रमश: कर्नाटक, ओडिशा एवं झारखण्ड,छत्तीसगढ़ और आन्ध्र प्रदेश हैं |
  • लौह अयस्क का सर्वाधिक उत्पादन करने वाले शीर्ष राज्य क्रमश: ओडिशा, छत्तीसगढ़,कर्नाटक एवं झारखण्ड हैं |
  • देश का सबसे बड़ा लौह अयस्क क्षेत्र बरामजादा समूह के नाम से जाना जाता है | बरामजादा समूह एक चट्टानी समूह है | लौह अयस्क क्षेत्र के रूप में जाना जाने वाला बरामजादा समूह देश के दो राज्यों झारखण्ड और ओडिशा के सीमावर्ती क्षेत्रों में विस्तृत है |
  • बरामजादा समूह का विस्तार झारखण्ड के सिंहभूमि जिला में और ओडिशा के क्योझर जिले में है | बरामजादा समूह लौह अयस्क का सबसे समृद्ध क्षेत्र है तथा भारत का सबसे बड़ा लौह अयस्क क्षेत्र है |
  • भारत में लौह अयस्क की प्राप्ति धारवाड़ क्रम या कुडप्पा क्रम की आग्नेय चट्टानों में होती है |
Note– पिछले अध्यायों में चट्टानों का विस्तृत विवरण दिया जा चुका है |
  • लोहा मुख्य रूप से आग्नेय चट्टानों में पाया जाता है,जबकि ईंधन खनिज जैसे – कोयला,पेट्रोलियम आदि पदार्थ परतदार चट्टानों में पाया जाता है |
  • भारत में उत्पादित अधिकांश लोहे का निर्यात जापान को किया जाता है तथा दूसरे स्थान पर भारत लोहे का निर्यात चीन को करता है |
भारत के प्रमुख लौह अयस्क क्षेत्र निम्नलिखित हैं (i)     ओडिशा- ओडिशा में लौह अयस्क उत्पादन के तीन क्षेत्र हैं –           (a)    मयूर भंज जिले में गुरु महिसानी और बादाम पहाड़ी पर           (b)    क्योझर जिला (बारामजादा समूह के अंतर्गत आता है |)           (c)    सुंदरगढ़ जिला (ii)    झारखण्ड  –           झारखण्ड में लौह अयस्क उत्पादन के प्रमुख रूप से दो क्षेत्र हैं –           (a)    पंसिराबुरु           (b)    नोवामंडी
  • पंसिराबुरु और नोवामंडी ये दोनों क्षेत्र बरामजादा समूह के अंर्तगत ही आते हैं|
(iii)   छत्तीसगढ़–  छत्तीसगढ़ में लौह अयस्क उत्पादन के दो प्रमुख क्षेत्र हैं –           (a)    डल्लीराजहरा ( दुर्ग जिला में)           (b)    बैलाडीला (दंतेवाड़ा जिला में) (iv)   कर्नाटक – कर्नाटक में लौह अयस्क उत्पादन के तीन क्षेत्र हैं-           (a)    कुन्द्रेमुख(चिकमंगलूर जिला)           (b)    बाबाबूदन पहाड़ी ( चिकमंगलूर जिला )           (c)    संदूर पहाड़ी ( बेलारी जिला ) महत्वपूर्णतथ्य-
  • कुन्द्रेमुख (चिकमंगलूर जिला) में मैग्नेटाइट लोहा पाया जाता है |
  • तमिलनाडु के सलेम में मैग्नेटाइट लोहा पाया जाता है |
  • केरल के कोझीकोड में मैग्नेटाइट किस्म का लोहा पाया जाता है |
  • गोवा राज्य में भी मैग्नेटाइट किस्म का लोहा पाया जाता है|
  • महाराष्ट्र के रत्नागिरी जिले में लौह अयस्क का संचित भण्डार है |

Leave a Message

Registration isn't required.


By commenting you accept the Privacy Policy

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Usernicename
CM MANSOORI November 5, 2020, 8:01 am

Very nice. Content

Usernicename
Ajeet kumar mishra May 30, 2020, 4:41 pm

Amazing sir

Usernicename
babita yadav April 26, 2020, 1:08 am

sir pdf link nahi h diya kya

Usernicename
Brijesh April 23, 2020, 8:03 am

Thank you sir